Search

PUBG और Call of Duty गेम पर भारत में क्यों नहीं लगा बैन? यहां है जवाब


इस सप्ताह की शुरुआत में भारत सरकार ने 59 चाइनीज मोबाइल एप्स पर एक साथ प्रतिबंध लगा दिया जिसमें टिकटॉक से लेकर कैमस्कैनर जैसे बड़े एप शामिल हैं। इन 59 एप्स पर प्रतिबंध लगने के बाद सोशल मीडिया पर एक सवाल खूब पूछा गया कि आखिर पबजी मोबाइल और कॉल ऑफ ड्यूटी मोबाइल गेम पर प्रतिबंध क्यों नहीं लगा? आइए जानते हैं इस सवाल का जवाब...


पबजी मोबाइल और कॉल ऑफ ड्यूटी मोबाइल गेम को लेकर लोगों का सवाल है कि चीन की टैनसेंट गेम्स नाम की कंपनी इन दोनों गेम को ऑपरेट करती है तो फिर इन दोनों गेम्स पर प्रतिबंध क्यों नहीं लगा। इस सवाल का सीधा जवाब यह है कि ये दोनों एप 100 फीसदी चाइनीज नहीं हैं। आइए थोड़ा विस्तार से जानते हैं..


PUBG मोबाइल को पबजी कॉरपोरेशन ने तैयार किया है जो कि Bluehole की सब्सिडियरी कंपनी है। ब्लूहोल दक्षिण कोरिया की एक कंपनी है। पबजी के शुरुआती दौर पर चीन के टैनसेंट गेम्स ने पबजी से एक साझेदारी की जिसके तहत वह चीन में पबजी का संचालन करता है। मतलब टैनसेंट गेम चीन में पबजी मोबाइल का डिस्ट्रीब्यूटर है। चीन में पबजी को लेकर टैनसेंट गेम्स की सफलता के बाद पबजी कॉरपोरेशन ने भारत का ठेका भी टैनसेंट को ही दे दिया। 


कॉल ऑफ ड्यूटी मोबाइल गेम की बात करें तो कॉल ऑफ ड्यूटी एक्टिविजन ने इस गेम की लॉन्चिंग के लिए TiMi स्टूडियोज से साझेदारी की है जो कि चीन के टैनसेंट गेम्स की सब्सिडियरी कंपनी है, जबकि कॉल ऑफ ड्यूटी एक्टिविजन अमेरिका की एक्टिविजन ब्लिजार्ड (Activision Blizzard) की सब्सिडियरी कंपनी है। 


ऐसे में इन दोनों गेम्स के साथ चीन का सीधा और 100 फीसदी कनेक्शन नहीं है। संयुक्त मालिकाना हक के कारण इन दोनों एप्स पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया है, हालांकि सरकार ने इन दोनों एप्स को लेकर कोई बयान जारी नहीं किया है। इन दोनों एप्स से सर्वर भी भारत में लाइव हो चुके हैं और काम कर रहे हैं।

0 views

created by: Technical Sirji

Office:- Sona Talab,Varanasi